क्या वाल्मीकि जी डाकू थे?

महर्षि वाल्मीकि जी के संबंध में लोगों में एक कथा प्रचलित है कि वे रामायण की रचना करने से पहले डाकू थे। उनके सम्बन्ध में रामायण को ही प्रमाण माना जा सकता है क्योंकि जब प्रमाण की बात आती है तो दो ही प्रमाण माने जाते हैं – वेद और आप्त ऋषि। वेद ईश्वर का ज्ञान है और...

Questions & Answers – May 25, 2021

Arvind: Respected Guruji,  Pranaams! I am doing Agnihotra Homa for last 6 months. I came to know that while your goodself were in the military service, you were doing sadhana and meditation and during one such time, while you were doing meditation in your house,...

सामवेद मंत्र 104

न तस्य मायया च न रिपुरीशीत मर्त्यः । यो अग्नये ददाश हव्यदातये ॥ (सामवेद मंत्र १०४) जो मनुष्य देवों को हव्य पदार्थ देने के लिए, अग्नि के लिए आहुति सहित दान करता है, उसका शत्रु माया द्वारा भी शासन नहीं कर सकता। इस सामवेद मंत्र 104 में ईश्वर ने माया से छूटने का सरल परंतु...

सामवेद मंत्र १०४

न तस्य मायया च न रिपुरीशीत मर्त्यः । यो अग्नये ददाश हव्यदातये ॥ (सामवेद मंत्र १०४) जो मनुष्य देवों को हव्य पदार्थ देने के लिए, अग्नि के लिए आहुति सहित दान करता है, उसका शत्रु माया द्वारा भी शासन नहीं कर...

सृष्टि का प्रथम गुरु

स्वामी राम स्वरूप जी, योगाचार्य, वेद मंदिर (योल) (www.vedmandir.com) स एषः पूर्वेषामपि गुरुः कालेनानवच्छेदात् (पातञ्जल योग दर्शन १/२६) अर्थात् ईश्वर ही हमारे पूर्वजों का प्रथम गुरु है क्योंकि ईश्वर को मृत्यु नहीं आती। यहाँ यह विचारणीय है कि जब महाप्रलय में यह तीनों...

Questions & Answers – April 25, 2021

Lisa: If Sri Krishna was not an avatar of Sri Vishnu, how did Sri Krishna show his maharup in the Bhagwad Geeta? Swami Ram Swarup: Sri Krishna Maharaj was a Yogeshwar and when a Yogi attains Samadhi, he becomes equivalent to God but not God. Within a Yogi, God...

Questions & Answers – April 09, 2021

Neeraj: नमस्ते गुरुदेव, क्या भूत होते हैं? क्या बुरी आत्माएँ होती है? या अच्छी आत्माएँ? आधी दुनिया के लोग विश्वास करते हैं, तो आप इसका मार्गदर्शन करें। जीवात्मा की कुछ size होती है? Swami Ram Swarup: नमस्ते बेटा। नहीं, भूत नहीं होते हैं। इस विषय में मेरा article है,...

Annual Yajyen in Ved Mandir, Yol from April 18 to June 27, 2021

Annual Yajyen of Four Vedas at Ved Mandir will commence from April 18, 2021. Daily Yajyen with Ved Mantras is conducted personally by Swami Ram Swarupji. Aahutis of all four Vedas are given in holy Yajyen. In addition, Swamiji explains Ved Mantras alongwith related...

Questions & Answers – January 30, 2021

Anonymous: Pranam Guruji.. Guruji Please bless me to do more purushaarth..I feel guilty I’m not able to do more svadhyay… please bless me that I listen to your pravachan more…when I listen I feel very much satisfied & happy.. Guruji I have...
Page 2 of 3
1 2 3
Ved Mandir

FREE
VIEW