Deepak Kumar: चरण स्पर्श, नमस्ते। एक बार आपने कहा था कि शेयर मार्केट का काम नहीं करना चाहिए लेकिन अगर किसी को फायदा होता रहे तो क्या वह ठीक है? जैसे एक मित्र का वही काम है। शेयर मार्केट में ही डीलिंग करता है लेकिन वह शेयर खरीद कर invest कर देता है और जब उसको प्रॉफिट होता है तो वह बेच देता है।  तो सब क्या वह ठीक है? उसको लगता है कि जैसे हम कपड़ा खरीद कर बेचते  हैं वह शेयर खरीद कर बेचता है। क्या आप कृपया उसका मार्गदर्शन कर सकते हैं? धन्यवाद!

Swami Ram Swarup: शेयर मार्केट का काम एक तरह से जुए जैसा है। कभी फायदा होता है तो कभी नुकसान भी हो जाता है। जैसे कोई जुआ खेलते और कहे कि मुझे फायदा हो रहा है, तो यह गलत है। जुए में लगातार फायदे की तो कोई गुंजाइश ही नहीं है। अगर इसमें आपको लाभ हो रहा है तो दूसरे को नुकसान भी हो रहा है। तो अपनी स्वार्थ सिद्धि के लिए हम दूसरों का नुकसान करके पाप मोल ना लें।

Keshaw: Namaste Swamiji, Is there a distinction of good and bad between devs and asurs, also were there no devs and asurs before the birth of Rishi Kashyap’s children?

Swami Ram Swarup: Namasteji dev aur asur are always existed on this earth. He who follows Vedic path, does daily Yajyen/Agnihotra, by hard practice of Ashtang yog philosophy, controls his senses and perceptions, is always religious minded, speaks truth, is benevolent to others etc., is called Dev and those who are against the said qualities, tell lies, do bad deeds, sins etc. are called Asur.

MeiKam: Dear Guruji, In the naturopathy and Ayurveda classes which I have attended, the teachers have mentioned about drinking copper water daily for good health and strength. Is this tallied with Vedas? Thanks!

Swami Ram Swarup: My blessings to you, beti. Yes, use of water in copper is good for health.

Pradeep: Namaste Swamiji I humbly request if you could explain the meaning of this mantra? and Is it from Vedas? “नमते सते ते जगकारणाय नमते िचते सवलोकायाय। नमोऽतै तवाय मिु दाय नमो णे यािपने शाताय॥”

Swami Ram Swarup: My blessings to you. It is not a Ved mantra beta. So, I cannot explain, beta.

Ved Mandir

FREE
VIEW