इस मंत्र में कहा जब मनुष्य वायुयान बना लेता है और उसे चलाना होता है तो अग्नि और वायु की जरूरत पड़ती है। जब इंसान वायुयान बना लेता है और उसको चलाता है तो उसमें और वायु और अग्नि काम करते हैं । वायु अग्नि उसको चलाते हैं। वायु अग्नि  कारों में भी, मोटरसाइकिल में भी, इंजन में भी सभी जगह काम करते हैं। पता नहीं कितने पदार्थ  ईश्वर ने बनाए हैं। इनका ज्ञान तो जो इंजीनियरिंग करते हैं उनको होता है या फिर  विद्वानों को होता है, बाकी को तो जब तक बोला नहीं जाएगा और सिखाया नहीं जाएगा तब तक नहीं होगा। यह मैंने आप लोगों से कहा और आपको हो गया ज्ञान। वायुयान चलाने के लिए जितना भी मटेरियल है, वायु है, अग्नि है, लोहा है , जो भी है ये भगवान के बनाया हुए हैं। वायुयान बनाने और चलाने की शिक्षा भगवान ने वेदों में दी है, यह हमें याद रखना है। बड़ा जबरदस्त ज्ञान विज्ञान है, हमें समय निकालकर वेद सुनना जरूरी है।

यहां देखो क्या ज्ञान  है, यहां उपमा दी है ईश्वर ने। विद्युत और अग्नि एक ही बात है, और हवा के बिना तो हमारा कोई भी काम सिद्ध नहीं होता। यहां भगवान ने यह ज्ञान दिया है कि विद्युत के बिना आपका कोई काम नहीं बनेगा। विद्युत से ही तो यह सारे वायुयान, गाड़ियां वगैरा, सब ये काम करते हैं। घड़ी में भी विद्युत ही काम कर रही है, छोटी छोटी चीजों में । भगवान ने बनाना सिखाया और लोगों ने बनाया। 

यजुर्वेद में भगवान ने कहा कि जैसे आप की जंघाएं चलते हुए आपस में टकराती हैं, वहां गर्मी पैदा होती है। ऐसे ही दो पत्थरों को टकराओ तो डीसी करंट तैयार होगा। पानी से तैयार करोगे तो एसी करंट तैयार होगा। यह भगवान ने यजुर्वेद में ज्ञान दिया है। लोगों ने वहाँ से सीखा और बना दी बिजली। बिजली के बिना आज कोई भी काम नहीं हो सकता। सब ठप्प होकर बैठ जाते हैं। यह कहना गलत है कि जब बिजली नहीं थी तब भी काम चलता था, तब नहीं चलता था, तब स्लो था और बिजली जैसा सुख नहीं था। बिजली के बिना कोई व्यवहार नहीं चलता। 

अग्नि से यह सुख लो, यह विद्या सीखो और जो सीख रहे हैं, वह सीख ही गए हैं। क्या टेक्नोलॉजी है यह जबरदस्त। आप समझ रहे हैं ना? इन मंत्रों में यह ज्ञान है कि तिनके से लगाकर ब्रह्म तक का ज्ञान, छोटे से लगाकर बड़े से बड़ा ज्ञान सब ईश्वर का दिया हुआ है।

If we contemplate (चिंतन ) any mantra, like it has been said in this mantra.If a man intends to drive an airplane then air and fire are needed. 

Air and water works in everything. So many products are made by God. The knowledge of this is for those who do engineering or the learned of Vedas. If this is not taught to the others, they may not understand. I have explained this to you and you have understood. In order to use air , the materials used are given by God. The knowledge of this is given by God in Vedas. This is great knowledge and science. We should take time and listen to Vedas. 

See the knowledge here. Here God has used a simile. Vidyut (Electricity) and Agni (Fire) are same in this context (energy/electricity). Air – without electricity and air our no work gets fulfilled (सिद्ध). God has given this knowledge that without vidyut (electricity), your no work will happen. God has explained in Vedas on how to produce and use electricity. He has given knowledge of DC current – when you walk, your thighs rub against each other, which produces heat. Similarly, you can rub two stones and produce current. He has also given the knowledge of AC current from water. People heard this knowledge and started generating electricity. Without electricity nothing happens. Everyone just sits idly. Without electricity, there is no work. You should take the pleasure from this technology. You should learn this knowledge. This technology is great. In these mantras there is small to great knowledge. Everything is given by God. 

Ved Mandir

FREE
VIEW