बाबा रामदेव जी मुझे जानते हैं और मैं भी उनका हृदय से सम्मान करता हूँ परंतु उनके इन विचारों ने मुझे अत्यंत दुख पहुंचाया है कि शाहरुख खान अपनी फिल्मों से कमाए पैसे सरकार को लौटा दे। भारत का अस्तित्व हिन्दू, मुस्लिम, सिख-ईसाई आदि अनेक धर्मों के अनुयायियों से प्रकाशमान है।

अतः बिना किसी संप्रदाय के नर-नारी को आहत किए, सबको अपने विचार कहने का अधिकार है और यदि कोई चिंताजनक बात होती है तो किसी भी देशवासी को आपस के भाई-बहन के रिश्ते को नज़रअंदाज़ करके, हिंसायुक्त बात कहने की आज्ञा कोई नहीं देता।

हमें आपस में बैठकर प्यार से शंका का समाधान करना चाहिए। व्यक्तिगत अथवा संप्रदायिक आधार पर किसी का निरादर करने से देश की एकता प्रभावित होती है और विदेशी हम पर हँसते हैं।

मेरी ईश्वर से यही प्रार्थना है कि हम भारतवासी भाईचारे को बढ़ाते एवं सभी मजहबों का आदर करते हुए उन्नति पथ पर अग्रसर होये।

कहा भी है:
सर ज़मीन-ए-हिन्द पर, अक़वाम-ए-आलम के फिराक;
काफिले आते गए, हिंदोस्ता बनता गया

स्वामी रामस्वरूपजी, योगाचार्य
वेद मंदिर, यौल केंप
कांगड़ा, हिमाचल प्रदेश
पिन: 176052

Ved Mandir

FREE
VIEW